Pages

Followers

Saturday, March 12, 2011

kalpant ka visheshank

दोस्तों,
आज आपको यह बताते हुए प्रसन्नता हो रही है कि साहित्य कि प्रतिष्ठित पत्रिका "कल्पान्त" त्रि मासिक द्वारा एक अंक इस नाचीज पर भी केन्द्रित करने का निर्णय लिया है|आप सबसे विनम्र निवेदन है कि अपनी शुभकामनायें ,सन्देश,या मेरी कविताओं,लेख पर अपने विचार शीघ्र भेजने कि कृपा करें,ताकि विशेषांक मे स्थान दिया जा सके|
डॉ अ कीर्तिवर्धन
विद्या लक्ष्मी निकेतन
५३-महालक्ष्मी एन्क्लेव
जानसठ रोड
मुज़फ्फरनगर-251001

--

Dr. A.Kirti vardhan
09911323732
http://kirtivardhan.blogspot.com/

5 comments:

  1. Sir aapke bare me kaya likhu jitna likhu bahut kam hai. Aapka lekh me sal bhar se padhta aa raha hu. Lagta hai padhta rahu padhta rahu. Ati sundar. Aap sada isi trah likhte rahe.

    ReplyDelete
  2. भाई साहब ! देवबंद से मुज़फ्फरनगर दूर नहीं है और आप हमसे .

    ReplyDelete
  3. aap ki tavrit pratikriya evm protsahan,shubhkamnaaon ke liye aaabhari hun.apna sneh banaye rakhen.

    ReplyDelete