Pages

Followers

Sunday, October 14, 2012

pahachana hi nahi..

सहारे तो बहुत हैं तुमने पहचाना ही नहीं
तुम्हे चाहते है वो कितना ,तुमने जाना ही नहीं |
रोते हैं रात भर तेरा नाम लेकर
करवट बदल तुमने देखा ही नहीं |
डॉ अ कीर्तिवर्धन 8265821800

No comments:

Post a Comment