Pages

Followers

Monday, April 13, 2015

saare desh me bhrashtaachaar ab aam ho gaya hai

सारे देश में भ्रष्टाचार, अब आम हो गया है,
सुरक्षा से खिलवाड़, नेताओं का काम हो गया है।
खाने लगी है बाड़ ही, जब से खेत को,
फसलें उगाना अमन की, हलकान हो गया है।
डॉ अ कीर्तिवर्धन

No comments:

Post a Comment